May 27, 2024

बीकानेर। संभाग के बहुचर्चित अजय जैतपुरा की हत्या का षडय़ंत्र बीकानेर की जेल से रचा गया था। यह साजिश अपराधिक मामले में यहां बीकानेर जेल में बंद नामजद आरोपित अनिल गैंग के बंशीलाल व सोनू मीठी ने रची थी। इसकी पुष्टि सादुलपुर पुलिस द्वारा जैतपुरा हत्या मामले में गिर तार आरोपित संदीप उर्फ कालू ने पुलिस पूछताछ में की। थानाधिकारी भगवान सहाय मीणा के अनुसार गिर तार आरोपित हरियाणा लुहारू थाना क्षेत्र गांव सिंघानी निवासी संदीप कुमार उर्फ कालू जाट ने पूछताछ में बताया कि 25 जून 2015 को हरियाणा के इसरवाल गांव में केहर की ढाणी निवासी अनिल के हुए एनकाउंटर में अजय जैतपुरा का हाथ था। इस बात से अनिल गैंग से आपसी रंजिश हो गई। बदला लेने के लिए जैतपुरा की हत्या की गई है। पुलिस के मुताबिक जैतपुरा हत्या मामले में नामजद आरोपित बैरासर निवासी बंशीलाल व सोनू मीठी ने बीकानेर जेल में घटना को अंजाम देने की रणनीति बनाई थी। इसके बाद मिंटू मोडासिया से संपर्क किया और मोडासिया को इसके लिए तैयार किया। बताया जा रहा है मोडासिया व अनिल से झुझुंनूं जेल में कुछ समय पहले मारपीट भी हुई थी, तभी से मोडासिया रंजिश रखता था। जेल से रिहा होने के बाद बंशी व सोनू के इशारे पर साथियों के साथ मिलकर न्यायालय में घुसकर जैतपुरा की गोली मारकर हत्या की थी।