May 28, 2024

(जी.एन.एस) जोधपुर
जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय के नवनिर्मित चार भवनों का शुक्रवार को राज्यपाल व कुलाधिपति कल्याण सिंह के हाथों लोकार्पण होना था, लेकिन राज्यपाल के जोधपुर नहीं आने पर विवि प्रशासन चारों भवनों के शिलालेख लेकर जयपुर पहुंच गया। वहां राज्यपाल ने शुक्रवार को राजभवन में चारों शिलालेख का लोकार्पण भी किया। राजभवन के जनसंपर्क विभाग के अनुसार राज्यपाल स्वस्थ हैं और वे अपना सामान्य काम-काज कर रहे हैं। दीक्षांत समारोह के लिए तो विवि ने राज्यपाल को निमंत्रण दिया था, लेकिन चार भवनों के लोकार्पण के मामले में विवि खुद ही शिलालेख लेकर जयपुर गया है।

विश्वविद्यालय के विज्ञान संकाय में संगोष्ठी भवन, एमबीएम इंजीनियरिंग कॉलेज में परीक्षा भवन, कॉलेज के ही आर्किटेक्चर विभाग का पूर्वी स्टूडियो हॉल और पश्चिमी स्टूडियो हॉल का निर्माण करवाया गया है। चारों भवनों पर लाखों रुपए खर्च हुए हैं। विवि ने चारों भवनों के लोकार्पण का शिलालेख बनाया और लोकार्पण तिथि ८ दिसम्बर खुदवाई गई। चार दिन पहले ४ दिसम्बर को जेएनवीयू के १५वें दीक्षांत समारोह में भी एन वक्त पर राज्यपाल नहीं आए थे। एेसे में आठ दिसम्बर को राज्यपाल के आने की उम्मीद कम ही थी। एेसे में विवि प्रशासन कुलपति प्रो. आरपी सिंह के नेतृत्व में खुद ही शिलालेख लेकर राजभवन पहुंच गया। राजभवन में सभी औपचारिकताओं के साथ चारों शिलालेख का लोकार्पण किया गया। ये शिलालेख चारों भवनों के बाहर स्थापित किए जाएंगे।

चारों भवनों के शिलालेख पर राज्यपाल की ओर से कुलपति की उपस्थिति में लोकार्पण का लिखा है। अंत में संबंधित संकाय अधिष्ठाता का नाम है। शिलालेख पर यह कहीं भी अंकित नहीं है कि लोकार्पण जयपुर में किया गया है। लोकार्पित शिलालेख चारों भवनों में स्थापित करने के बाद अनभिज्ञ व्यक्ति को यही लगेगा कि ८ दिसम्बर २०१७ को राज्यपाल में जोधपुर थे और इन चारों भवनों का लोकार्पण उन्होंने किया था।