February 26, 2024

हवन में डिस्टर्बेंस रोकने लिव-इन पार्टनर को जहर खिलाया : युवती को डर था कि युवक छोड़ नहीं दे, पुलिस ने किया अरेस्ट

चूरू। लिव-इन रिलेशन में रहने वाली युवती के पार्टनर सहित 6 जनों को जहर देने के मामले में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। युवती को पार्टनर के छोड़े जाने का डर था। ऐसे में युवती तांत्रिक के कहने पर घर में हवन करना चाहती थी। हवन में कोई रुकावट पैदा नहीं हो इसके लिए उसने जहर दे दिया। खाना खाने से एक की मौत हो गई और 5 की हालत गंभीर बनी हुई है। मामला चूरू के सदर इलाके का है।
डीएसपी राजेंद्र बुरड़क ने बताया कि शनिवार सुबह कोदेसर हाल पूनिया कॉलोनी निवासी चांदरतन पत्नी मनोज कुमार ने मामला दर्ज करवाया था। महिला ने बताया कि उसका पति मनोज कुमार बेनीवाल (40) पिछले तीन साल से लिव-इन रिलेशनशिप में सुमन (35) के साथ रह रहा है। मनोज का इवेंट का काम है। सुमन ने गुरुवार रात को खाने में जहर मिला दिया।
मनोज कुमार और उसके यहां काम करने वाले ढाणी मुनीमजी निवासी बाबूलाल गुर्जर (23), पूनिया कॉलोनी निवासी अर्जुन, करण, सुमित नायक और नरसिंहपुर निवासी आनंद गोदारा ने एक साथ खाना खाया था। खाना खाने के बाद सभी बेहोश हो गए। थोड़ी देर बाद साथ काम करने वाले दूसरे लोग कमरे में गए तो सभी को अचेत देखकर होश उड़ गए।
उन्होंने सुमन को बताया तो उसने कमरे में जाकर मनोज काे संभाला। सूचना पर पहुंचे घरवालों ने सभी को डीबी हॉस्पिटल पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने बाबूलाल को मृत घोषित कर दिया। हालत गंभीर होने पर मनोज को जयपुर रेफर किया गया।

बेहोश होने पर करवाया था हवन
डीएसपी ने बताया कि मामला दर्ज होने के बाद शनिवार को युवती को अरेस्ट कर लिया है। पूछताछ में सुमन ने बताया है कि मनोज सहित पांच लोगों को खाना खिलाकर वह रात को सो गई थी। उसको पता था कि खाना खाने वाले बेहोश पड़े हैं। इसलिए उसने शुक्रवार दोपहर तांत्रिक ओंकार लोहिया के साथ घर में पूजा-हवन भी किया था। पूजा और हवन करवाने के बाद ही तांत्रिक उसके घर से गया था।

दीपावली पर आई थी तांत्रिक के संपर्क में
पूछताछ में सामने आया कि चित्तौड़गढ़ निवासी तांत्रिक ओंकार लोहिया मनोज का दोस्त है। मनोज उससे काफी बार बात करता था। वह दीपावली के समय ही सुमन के संपर्क में आया था। उसके बाद से दोनों सोशल मीडिया पर चेट भी करते थे। उस समय सुमन ने अपनी बात तांत्रिक को बताई और उसने यह करने को कहा था। सुमन ने अपने मोबाइल में तांत्रिक के नंबर भी दूसरे ही नाम से सेव कर रखे थे।