March 5, 2024

GNS , उत्तर प्रदेश के देवबंद का रहने वाला मोहम्मह फरमान मुंबई के एक कपड़ा कारोबारी के चुंगल में ऐसा फंसा की उसे अब पछताते नहीं बन रहा है। मुंबई के कपड़ा कारोबारी ने मोहम्मद फरमान को लालच दिया कि अपना पासपोर्ट बनवा ले उसे, त्रिनाद एंड टौबैगो वेस्टंडीज में अपने शोरूम में अच्छा काम दिलवा देगा जिससे उसका हर सपना पूरा हो जाएगा।

जी हां उस कपड़ा कारोबारी का नाम याहवा पुत्र अब्दुल रशीद है। जो मुंबई के नाखुदा मोहल्ला, मोहम्मद अली रोड मुंबई 400003 का रहने वाला है। यहीं पर याहवा का दस्तागीर कलेक्शन नाम की दुकान है। इसी दुकान पर मोहम्मद फरमान काम करता था। उसे ज्यादा कमवाने और पैसे का लालच देकर वेसटंडीज भेज दिया गया।

फरमान को बताया गया कि वेसंटडीज में कपड़े का याहवा का बड़ा शोरूम है। फरमान यहां पर बिना परमिट 14 माह से काम कर रहा है। फरमान ने वेसंटडीज से फोन पर (नंबर – +18684923909, भारत का नंबर 91-8767505030 है) जीएनएस संवाददाता आकाश श्रीवास्तव को बताया कि उसके मालिक ने उसे यहां पर प्रताड़ना कर रहा है।

न पैसे दे रहा है। न खाने-पीने को सही से दे रहा है। यही नहीं याहवा ने वेसंटडीज में फरमान का पासपोर्ट अपने पास रखकर मुंबई अपने घर चला गया है। फरमान की कोई बात उपरोक्त दुकान नहीं सुन रहा है। अब धमकी भी दे रहा है। फरमान के भाई सलमान पुत्र उस्मान, जो मोहल्ला पठानपुरा, नई बस्ती बेरियान, थाना देवबंद के रहने वाले हैं ने जीएनएस संवाददाता आकाश श्रीवास्तव से कहा कि मेरा भाई वेसंटडीज में बहुत परेशान है।

मुंबई का उसका दुकानदार अब कोई मदद नहीं कर रहा है। पासपोर्ट अपने पास रख लिया है। ऊपर से धमकी दे रहा है कि अगर तुम वहां (वेंसटडीज में) किसी से मुंह खोले तो तुम्हें जान से मार देंगे। यही नहीं फरमान के पास न तो पासपोर्ट है और न ही इतना पैसा कि वह अपने वतन हिंदुस्तान वापस लौट सके।

फरमान के भाई सलमान, साथी तनजीम और पिता जब इस संबंध में देवबंद थाने में एफआईआर लिखवाने गए तो देवबंद थाने ने एफआईआर लिखने से मना कर दिया और बोला कि यह मुंबई का मामला है वहां जाकर शिकायत दर्ज कराओ। फरमान को कुछ नहीं समझ में आ रहा है कि वह हिंदुस्तान अब कैसे लौटे। यही नहीं उनके घर वालों को भी समझ में नहीं आ रहा है कि वह भारत अपने भाई को कैसे वापस लाएं।

इस बीच फरमान वेस्टंडीज में भारतीय दूतावास से मदद के लिए संपर्क करने की कोशिश में लगा है कि किसी तरह वह अपने देश वापस लौट जाए। लेकिन अभी तक भारतीय दूतावास से न तो कोई संपर्क हो सका है न को कोई भारतीय दूतावास से मिलवाने में मदद की है। फरमान थर्ड आई वर्ल्ड न्यूज़ के जरिए भारतीय विदेश मंत्रालय और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से अपने सही सलामती की घर वापसी की गुहार लगाई है।